!!Jai Guru Dev !!

!!Jai Guru Dev !!

गुरुवार, 7 जनवरी 2010

भक्तों का आज का भविष्य



भक्तावाली 
 आज का दिन 
 ठीक ठाक 
ठीक ठाक 
 युद्ध निकट है 
 पतली राह मिलेगी बच्चा


रावेंद्रकुमार रवि

अभी भक्ति भाव की पुष्टि शेष है
 भय युक्त वाता वरण में दिन बीतेगा


 उजाला दिन 
भक्ति भाव की पुष्ट नहीं
बालिका तेरे ब्लॉग को जो भी बिना टिपण्णी के बांचेगा उसके लिए कुम्भीपाक नरक का जोग बनता है

27 टिप्‍पणियां:

  1. वाह महाराज आप तो त्रिकाल दृष्टा हैं, आपके दिमाग को "किस" करने का दिल करता है, हमारा युध्द हो चुका है, अल सुबह ही श्रीमति जी ने रण क्षेत्र सजा दिया कि अब ये कम्पुटर मुआ सौत हो गया, इसे छोडोगे कि नही? एक दिन पगला जाओगे ऐसे मे। आपकी भविष्यवानी शत प्रतिशत सही है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. गुरुदेव........ हम भी आ गया हूँ........ शरण में ले लो हमको भी....

    उत्तर देंहटाएं
  3. धन्य हो गया बाबा मैं तो..
    वाह!...आज तो अपने मज़े हो गए...आपने आज का दिन ठीकठाक जो बता दिया है ...
    इसका मतलब आज तो अपनी छुट्टी ....कपड़े श्रीमती जी खुद ही धोएंगी :-)

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपसे निवेदन है की वर्ड वैरिफिकेशन हटा दें

    उत्तर देंहटाएं
  5. सारे भक्त गण
    और टिप्पणी कर आशीर्वाद पायें
    सुभीता कोठी से बाहर आ जावें

    उत्तर देंहटाएं
  6. बालिके मानव देह से भूल हो गयी कदाचित कट-पेष्ट त्रुटी के कारण यह हुआ/बालक ललित देवी को मना ले

    उत्तर देंहटाएं
  7. क्या?...क्या कर रहे हो मित्र?... अगर गुरुदेव को पता चल गया कि तुमने अलग से अपनी दुकान खोल ली है तो घोर अनर्थ हो जाएगा ...उनका क्रोध तो तुम जानते ही हो...

    उत्तर देंहटाएं
  8. वत्स राजीव
    धोबन-यंत्र लिया नहीं तुमने

    उत्तर देंहटाएं
  9. मित्र-झौंटानंद
    तुम नाहक परेशां हो गए गुरुदेव से एक समझौता विलेख
    तैयार करा लिया है "अब ऐसी बातें सभी भक्तों के सामने लाना ठीक नहीं "
    गुप्त को गुप्त रहने दो गुप्ता न बनाओ

    उत्तर देंहटाएं
  10. @ झोलतानंद

    आप घबरायें मत
    इस दुकान का घनघोर प्रीमियम
    गुरुदेव जी को अदा किया जा चुका है
    जो क्रोध, अगर आएगा,
    तो सिर्फ दिखावा होगा

    और मेरे उजाला में
    जाला क्‍यों लगा दिया
    बाबा जी
    इसमें प्रकाश दिन करेंगे
    तो बेहतर रहेगा
    काश का बनेगा आकाश

    न लगायें जाला
    कह रहे हैं लाला
    ब्रॉडबैंड प्रदाता कंपनियों का भविष्‍य सुनहरा है
    दालों से अधिक वे बिकेंगी
    नेट का इसमें नजर आता चेहरा है

    और बाबा क्‍या बहरा है
    सुनता काहे नहीं
    शब्‍द पुष्टिकरण से भक्‍तगण परेशान हैं
    बाबा ने समझी परेशान करने में अपनी शान है

    राजीव तनेजा जी कृपया आज अपने अवकाश के दिन कपड़े धोने के बजाय बाबा जी की सैटिंग में जाके शब्‍द पुष्टिकरण अवश्‍य उड़ा दें। अपने अवकाश दिन को सार्थक बना लें।

    बाबा को सुनाई नहीं पड़ता है, इसलिए माफी बाद में मुलाकात होने पर हालातानुसार मांग ली जाएगी।

    उत्तर देंहटाएं
  11. पुष्टिकरण हटाए देता हूँ
    बस तुम्हारी परीक्षा ले रहा था

    उत्तर देंहटाएं
  12. शिष्य भविष्यवक्ता नंद, हम तुमसे काफी अप्रसन्न हैं, तुमने हमारी फोटो को माला डालकर मठ शुरू नहीं किया? हमने इजाजत दी, इसका ये अर्थ कतई नहीं है की तुम हमें सम्मान भी न दो,चलो सबसे पहले हमारी फोटो माला सहित सबसे ऊपर टांगो, वरना हम नाराज होकर श्राप दे देंगे ! कल्याण हो !

    उत्तर देंहटाएं
  13. शिष्य भविष्यवक्ता नंद, हम तुमसे काफी अप्रसन्न हैं, तुमने हमारी फोटो को माला डालकर मठ शुरू नहीं किया? हमने इजाजत दी, इसका ये अर्थ कतई नहीं है की तुम हमें सम्मान भी न दो,चलो सबसे पहले हमारी फोटो माला सहित सबसे ऊपर टांगो, वरना हम नाराज होकर श्राप दे देंगे ! कल्याण हो !

    उत्तर देंहटाएं
  14. शिष्य भविष्यवक्ता नंद, हम तुमसे काफी अप्रसन्न हैं, तुमने हमारी फोटो को माला डालकर मठ शुरू नहीं किया? हमने इजाजत दी, इसका ये अर्थ कतई नहीं है की तुम हमें सम्मान भी न दो,चलो सबसे पहले हमारी फोटो माला सहित सबसे ऊपर टांगो, वरना हम नाराज होकर श्राप दे देंगे ! कल्याण हो !

    उत्तर देंहटाएं
  15. गुरु देव
    आप को झौंटानन्द ने भरमाया है
    उसी ने सुकुल -पक्ष में अमावास का
    भरम फैलाया है
    प्रभू जब हमारा तुम्हारा लिखत-पढ़त
    में हो गया समझौता
    तो बीच में क्यों आ गया ये झौंटा ?

    उत्तर देंहटाएं
  16. शिष्य भविष्यवक्ता नंद, नादानी न करो,फ़ौरन वर्ड वेरिफिकेशन हटाओ, और हमारी फोटो टांगो,तुरंत आज्ञा का पालन करो !

    उत्तर देंहटाएं
  17. ये नाहक मठ में माथा डाल रहा है
    इसको हमारा ज्ञान का प्रभाव साल रहा है

    उत्तर देंहटाएं
  18. शिष्य भविष्यवक्ता नंद, हमारी फोटो के बगैर हमारे किसी भी चेले को दूकान खोलने की इजाजत नहीं है,अतः तुरंत हमारी फोटो टांगो !कल्याण हो ! हमारे नेटवर्क के हिसाब से चलना होगा !

    उत्तर देंहटाएं
  19. क्या हुआ?..उड़ गए न तोते?...
    कहा भी था की बाबा जी रुष्ट होंगे...समझाया था लाख बार कि भूल के भी ऐसी भूल न करो...लेकिन तुम नहीं माने...पड़ गए न लेने के देने...अब मुँह क्या देखते हो?...लगाओ फोटो...चढ़ाओ फूलमाला ...और भभूत बेच के...भविष्य बाँच के जो दो-चार आने कमाए थे..लगा दो उनकी भी वाट ...
    जय श्री राम...आम के आम...गुठलियों के दाम

    उत्तर देंहटाएं
  20. jhottanand
    बच्चा
    बाबा के फोटो में प्राण-प्रतिष्ठा भी तो करनी
    होती है

    उत्तर देंहटाएं
  21. बाबाओं का दंगल शुरू होने वाला है :)

    उत्तर देंहटाएं
  22. वत्स "वत्स"
    ये नादानी मत करो कोई हम ऐसे वैसे बाबा नई हैं
    हमारा काम लड़ने का और फिर मौज लेने का है
    न की आपस में लड़ने का

    उत्तर देंहटाएं
  23. हमारा काम लड़ने का और फिर मौज लेने का है
    इस पर गौर कीजिये मुझे लगता है कुछ वर्तनी त्रुटी रह गई है

    उत्तर देंहटाएं
  24. वत्स "वत्स"
    ये नादानी मत करो कोई हम ऐसे वैसे बाबा नई हैं
    हमारा काम लड़ाने का और फिर मौज लेने का है
    न की आपस में लड़ने का

    उत्तर देंहटाएं
  25. स्वामी जी,
    बताइए मेरे हाथ में भविष्यवक्ता का दावा करने वाले एक बाबा की हत्या का योग है या नहीं...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं